<%@ Language=VBScript %>
  
भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय

घोषणापत्र

 

प्रेस पंजीयक से शीर्षक सत्‍यापन पत्र प्राप्‍त करने के बाद मुद्रक /प्रकाशक को मजि‍स्‍ट्रेट के समझ घोषणा करनी होगी । यह घोषणा समाचारपत्रों के पंजीयन (केन्‍द्रीय) नि‍यम, 1956 की अनुसूची‍ में दि‍ए गए फार्म । में की जानी अपेक्षि‍त है । फार्म की प्रति‍यां मजि‍स्‍ट्रेट के पास उपलब्‍ध होंगी ।

यदि‍ मुद्रक तथा प्रकाशक दोनों अलग हैं अथवा प्रकाशन तथा मुद्रण के स्‍थान दोनों भि‍न्‍न मजि‍स्‍ट्रेट के अधि‍कार क्षेत्र में आते हों तो दोनों मजि‍स्‍ट्रेट के समक्ष अलग अलग घोषणाएं करनी होंगी ।

जैसा भी मामला होगा, मजि‍स्‍ट्रेट या तो घोषणा को अधि‍प्रमाणि‍त करेगा अथवा अधि‍प्रमाणन न करने संबंधी आदेश जारी करेगा ।

प्रत्‍येक अधि‍प्रमाणि‍त घोषणा की प्रति‍ मजि‍स्‍ट्रेट द्वारा उसके अनुप्रमाणन सहि‍त उस व्‍यक्‍ति‍ (यों) को जि‍सने (जि‍न्‍होंने) घोषणा की है और प्रेस पंजीयक को भेज दी जाएगी ।

वांछि‍त

अवांछि‍त

नि‍रसन

 

मुख्‍य पृष्‍ठ